असद अहमद एनकाउंटर की पूरी कहानी | Asad Ahmed Encounter Storie in Hindi

इस पोस्ट में हम आपको अतीक अहमद के बेटे Asad Ahmed Encounter की पूरी कहानी बताने वाले है और पिता अतीक अहमद के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है | उमेश पाल हत्याकांड में फ़रार माफ़िया अतीक अहमद के बेटे असद और उसके सहयोगी गुलाम को यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर में मार गिराया | इनका एनकांउटर झांसी में किया गया, UP STF का दावा है कि इनके पास से विदेशी हथियार बरामद हुए हैं | इस एनकाउंटर के संबंध में यूपी पुलिस ने जानकारी दी कि असद अहमद पुत्र अतीक अहमद और गुलाम पुत्र मकसूदन, दोनों प्रयागराज के उमेश पाल हत्याकांड में वॉन्टेड थे | उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा इन दोनों पर पांच लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था | झांसी में DSP नवेंदु और डीएसपी विमल के नेतृत्व में यूपी एसटीएफ टीम के साथ मुठभेड़ में मारे गए | बने रहिये इस पोस्ट में जिसमे हम असद अहमद एनकाउंटर की पूरी स्टोरी हिंदी में बताने वाले है |

asad ahmad encounter

क्यूँ हुआ अतीक अहमद के बेटे असद अहमद का एनकाउंटर ? (Asad Ahmed Encounter Storie in Hindi)

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 24 फरवरी 2023 को उमेश पाल कोर्ट से अपने घर वापस लोटे थे जो की राजू पाल हत्याकांड में मुख्य गवाह थे जिसमे अतीक अहमद मुख्य आरोपी है और उमेश पाल जैसे ही कोर्ट से अपने घर पहुचे थे तो उनके घर के सामने ही उन्हें अतीक अहमद के पुत्र असद अहमद और उनकी गैंग के कुछ और अपराधियों ने घेरकर मार दिया गया था | जिसकी CCTV फुटेज भी सामने आई थी जिसमे असद अहमद, गुड्डू मुस्लिम, गुलाम और कुछ अपराधी भी देखे गए | गुलाम उस वक्त पहले से ही उमेश के घर के पास ही एक इलेक्ट्रिशियन की दुकान में मौजूद था और बाकी कुछ अपराधी भी घात लगाये बेठे थे और गुलाम पहले से इलेक्ट्रिशियन शॉप पर दुकानदार से ग्राहक बनकर कुछ सामान निकलवाता है इसी बीच जैसे ही उमेश पाल की गाड़ी वहां पहुंचती है और उस पर पहला फायर होता है तभी गुलाम दुकान से बाहर तेजी से निकलता है और उमेश पर गोलियां बरसाने लगता है | उमेश पाल की हत्या के बाद से ही ये दोनों और बाकी अपराधी भी फरार थे | UP STF को तभी से इनकी तलाश थी और इनके ऊपर पुलिस की ओर से 5-5 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था | पिछले दिनों यूपी एसटीएफ इनकी तलाश में दिल्ली भी पहुंची थी, जिसके बाद उनकी लोकेशन झांसी में होने की सूचना मिली थी जिसके बाद 13 अप्रैल 2023 को UP STF किए टीम ने इन दोनों की घेराबंदी की और मुडभेड में दोनों का एनकाउंटर हुआ |

umesh pal murder video

अतीक अहमद के बेटे असद अहमद के एनकाउंटर पर सीएम योगी की पहली प्रतिक्रिया ?

CM योगी आदित्यनाथ ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए UP STF की सराहना की है | वहीं प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद ने इस एनकाउंटर की जानकारी मुख्यमंत्री को दी है | हालांकि इस एनकाउंटर के बाद कानून व्यवस्था को लेकर बैठक बुलाई गई है | इस पूरे मामले मुख्यमंत्री के सामने रिपोर्ट रखी गई है | गौरतलब है कि उमेश पाल हत्याकांड के बाद से असद अहमद फरार चल रहा था, वहीं डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा, हमारा संकल्प है कि हम उत्तर प्रदेश से गुंडे माफिया और अपराधियों को खत्म करेंगे | कोई भी ऐसा अपराधी जो अपराध करेगा वो प्रदेश में खुला नहीं घूमेगा | उत्तर प्रदेश कानून के माध्यम से सजा दिलाने में उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर है | उत्तर प्रदेश में कोई भी अपराधी अपराध करके बच नहीं पाएगा |

yogi adityanath

जानिए अतीक अहमद के परिवार में और कौन-कौन हैं ?

अतीक अहमद का जन्म 10 अगस्त 1962 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ था | उसने 1979 में 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद पढ़ाई छोड़ दी तथा अतीक अहमद के पिता का नाम हाजी फिरोज अहमद है जो पेशे से तांगा चलते थे | अतीक अहमद पर 100 से ज्यादा केस दर्ज है, इसमें हत्या और अपहरण के केस शामिल हैं | अतीक अहमद ने 1996 में शाइस्ता परवीन से शादी की, जिनसे अतीक के कुल पांच बेटे हैं | अतीक अहमद के 5 बच्चों में अशद तीसरा बेटा था | इसमें सबसे बड़ा उमर अहमद, दूसरे नंबर पर अली अहमद, तीसरे नंबर पर असद अहमद, चोथा आजम अहमद और अबान अहमद पांचवा बेटा है | आजम क्लास 10 में पढ़ रहा है, जबकि अबान कक्षा 8 का छात्र है | अतीक अहमद को कोई बेटी नहीं है, वहीं अतीक अहमद का एक भाई है जिसका नाम अशरफ अजीम है | अशरफ अजीम की पत्नी का नाम जैनब फातिमा है | इसके अलावा अतीक अहमद की एक बहन है, जिसका नाम आयशा नूरी है | अतीक अहमद के बहनोई का नाम इकलाख अहमद है |

अतीक अहमद के दो और बेटे कहा है ?

गौरतलब है कि अतीक अहमद के साथ उसका भाई अशरफ अजीम अभी जेल में बंद है | अतीक अहमद के दो बेटे उमर अहमद और अली अहमद अभी जेल में बंद है | इसके अलावा आजम और अबान को उमेश पाल हत्याकांड के बाद पुलिस ने बाल सुधार गृह भेज दिया था और आज दिनांक 13 अप्रैल 2023 को एक बेटे याने की असद अहमद का एनकाउंटर हो चुका है | अतीक अहमद की पत्नी इस समय फरार है, वहीं पुलिस ने बहन आयशा नूरी के पति इकलाख अहमद को भी गिरफ्तार कर चुकी है | इकलाख अहमद पर हत्या के आरोपियों की मदद का आरोप है | आयशा से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे निजी मुचलके पर छोड़ दिया था |

शूटर मोहम्मद गुलाम कौन हैं ?

प्रयागराज में जहां एक तरफ उमेश पाल हत्याकांड मामले में अतीक अहमद की कोर्ट में पेशी हो रही थी, तो वहीं दूसरी तरफ उमेश पाल हत्याकांड में यूपी एसटीएफ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए झांसी में अतीक अहमद के फरार बेटे असद अहमद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया | असद अहमद के साथ शूटर गुलाम मोहम्मद को भी एसटीएफ ने मार गिराया है | STF को असद के झांसी में होने की लोकेशन मिली थी, जिसके बाद UP STF उसकी तलाश में झांसी पहुंची, जहां पुलिस ने दोनों को मार गिराया | पुलिस जब असद की घेराबंदी के लिए झांसी पहुंची तो उसके साथ शूटर गुलाम मोहम्मद भी मौजूद था | गुलाम मोहम्मद भी उमेश पाल एनकाउंटर में शामिल था | गुलाम अतीक अहमद का बेहद करीबी था और अतीक के कई काले कारनामों में शामिल रहा है | अतीक ने अपनी राह में सबसे बड़ा रोड़ा बने उमेश पाल को हटाने के लिए असद के साथ गुलाम को भी जिम्मेदारी थी |

अतीक अहमद का करीबी रहा है मोहम्म्द गुलाम

24 फरवरी को उमेश पाल जब कोर्ट से अपने घर वापस लौट रहे थे तो उनके घर के सामने ही उन्हें घेरकर मार दिया गया था | गुलाम उस वक्त पहले से ही उमेश के घर के पास ही एक इलेक्ट्रिशियन की दुकान में मौजूद था | जिसकी CCTV फुटेज भी सामने आई थी | पहले वो दुकानदार से ग्राहक बनकर कुछ सामान निकलवाता है इसी बीच जैसे ही उमेश पाल की गाड़ी वहां पहुंचती है और उस पर पहला फायर होता है तभी गुलाम दुकान से बाहर तेजी से निकलता है और उमेश पर गोलियां बरसाने लगता है | उमेश पाल की हत्या के बाद से ही ये दोनों फरार थे | UP STF को तभी से इनकी तलाश थी और इनके ऊपर पुलिस की ओर से 5-5 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था | पिछले दिनों यूपी एसटीएफ इनकी तलाश में दिल्ली भी पहुंची थी, जिसके बाद उनकी लोकेशन झांसी में होने की सूचना मिली थी | गुलाम के एनकाउंटर पर उसके भाई राहिल हसन की प्रतिक्रिया भी सामने आई है | एबीपी गंगा से बात करते हुए राहिल ने कहा कि गुलाम ने जो किया है उसे उसकी सजा मिली है |

अतीक के बेटे अशद  का एनकाउंटर करने वाले यूपी पुलिस के वो दो अफसर कौन हैं जिनकी हर तरफ हो रही चर्चा ?

गैंगस्टर अतीक अहमद का बेटा असद अहमद और प्रयागराज में दिनदहाड़े उमेश पाल को गोली मारने वाला शूटर गुलाम मोहम्मद एसटीएफ के साथ एक मुठभेड़ में मारे गए जिसके लिए 12 सदस्यों वाली STF टीम का नेतृत्व डिप्टी एसपी नवेंदु कुमार नवीन और डिप्टी एसपी विमल कुमार सिंह कर रहे थे जिनकी अभी हर तरफ चर्चा हो रही है |

अशद एनकाउंटर स्पॉट पर डिप्टी एसपी विमल सिंह और एसटीएफ टीम के प्रभारी नवेंदु कुमार नवीन

उमेश पाल हत्याकांड मामले में उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) टीम ने अतीक अहमद के बेटे अशद  को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है | गैंगस्टर अतीक अहमद का बेटा अशद और प्रयागराज में दिनदहाड़े उमेश पाल को गोली मारने वाला शूटर गुलाम मोहम्मद एसटीएफ के साथ एक मुठभेड़ में मारे गए | 12 सदस्यों वाली एसटीएफ टीम का नेतृत्व डिप्टी एसपी नवेंदु कुमार नवीन और डिप्टी एसपी विमल कुमार सिंह कर रहे थे | एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश ने जानकारी दी कि दोनो आरोपियों को जिंदा पकड़ने की कोशिश की गई थी, लेकिन उन्‍होंने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी| पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दोनों मारे गए | डिप्टी एसपी नवेंदु और डिप्टी एसपी विमल के नेतृत्व में असद अहमद और शूटर गुलाम मोहम्मद का एनकाउंटर करने वाली यूपी की इस एसटीएफ टीम में डिप्टी निरीक्षक अनिल कुमार सिंह, निरीक्षक ज्ञानेंद्र कुमार राय, उप निरीक्षक विनय तिवारी, मुख्य आरक्षक पंकज तिवारी, सोनू यादव, सुशील कुमार, भूपेंद्र सिंह, कमांडो अरविंद कुमार, कमांडो दिलीप कुमार यादव शामिल थे |

कौन हैं नवेंदु कुमार नवीन ?

नवेंदु कुमार नवीन यूपी पुलिस में सब इंस्पेक्टर से भर्ती हुए थे | सब इंस्पेक्टर इंस्पेक्टर और अब यूपी पुलिस में पीपीएस अधिकारी हैं | अभी नवेंदु सिंह सीओ हैं  फिलहाल नवेंदु सिंह यूपी एसटीएफ की प्रयागराज यूनिट में बीते 8 साल से काम कर रहे हैं और 4 साल से प्रयागराज एसटीएफ यूनिट के प्रभारी हैं | यूपी पुलिस की वेबसाइट के मुताबिक, नवीन एसटीएफ में डीएसपी हैं जिनकी पोस्टिंग जिला लखनऊ है | नवीन का जन्म 03 अगस्त 1967 में बिहार के सारण में हुआ था| उनके पिता का नाम भोलानाथ राय है | नवीन 2017 कैडर के पुलिस अधिकारी हैं व नवेंदु को साल 2017 में स्पेशल टास्क फोर्स में शामिल किया गया था | कुछ साल पहले एक डकैत से मुठभेड़ में उनके हाथ और गर्दन में गोली भी लगी थी | पिछले साल ही नवेंदु ने दो इनामी अपराधियों को मार गिराया था | इसके लिए उन्हें 2008 में राष्ट्रपति वीरता पदक और 2014 में राष्ट्रीय वीरता पदक से नवाजा जा चुका है | पिछले साल 2022 में भी नवेंदु को उनकी इस बहादुरी के लिए स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजा गया था |

कौन हैं विमल कुमार सिंह ?

विमल कुमार सिंह यूपी एसटीएफ के लखनऊ मुख्यालय पर डिप्टी एसपी के पद पर हैं | नवेंदु की तरह विमल सिंह सब इंस्पेक्टर से यूपी पुलिस में भर्ती हुए थे | यूपी एसटीएफ में तैनाती के दौरान पूर्वांचल के कई बड़े माफियाओं पर शिकंजा कसने में विमल सिंह के मुखबिरी नेटवर्क की अहम भूमिका रही है | वह उत्तर प्रदेश के जौनपुर का रहने वाले हैं और साल 2018 कैडर के पुलिस अधिकारी हैं |

कौन हैं STF के ADG अमिताभ यश ?

बिहार के भोजपुर से आने वाले अमिताभ के पिता राम यश सिंह भी आईपीएस थे | अपनी स्‍कूली पढ़ाई दिल्‍ली के सेंट स्‍टीफेंस कॉलेज से पूरी करने के बाद उन्‍होंने UPSC की परीक्षा पास की और IPS बने | अमिताभ यश का पहला जिला बतौर कप्‍तान संतकबीरनगर रहा | यहां 11 महीने सेवाएं देने के बाद वह बाराबंकी महाराजगंज, हरदोई, जालौन, सहारनपुर, सीतापुर, बुलंदशहर, नोएडा और कानपुर में बतौर SP और SSP तैनात रहे |

असद अहमद के एनकाउंटर के बाद उमेश पाल की माँ और पत्नी ने क्या कहा ?

umesh pal family photo

अतीक अहमद के बेटे असद और शूटर गुलाम मोहम्मद के एनकाउंटर के बाद जब पत्रकारों ने उमेश पाल की मां और पत्नी से इस बारे में बात की तब उन्होंने उत्तर प्रदेश के भावी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को धन्यवाद किया है। उमेश पाल की पत्नी और मां ने कहा कि CM योगी राज में देर है अंधेर नहीं है और उत्तरप्रदेश सरकार और पुलिस जो कर रही है वो बहुत अच्छा काम कर रही है। उमेश पाल की मां और पत्नी दोनों ने ही योगी आदित्यनाथ जी के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा कि उन्होंने जो किया वह सही किया है और हमने सब मुख्यमंत्री योगी पर छोड़ दिया है। हमें पहले ही मुख्यमंत्री पर भरोसा था और आगे भी बना रहेगा क्युकी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जैसा कहा था वेसा कर क भी दिखाया है। उमेश पाल की मां शांति पाल ने आखिर में कहा की मेरे बेटे को सरेआम गोली मारी थी, साथ में दो पुलिसकर्मियों को भी मारा है और असद और गुलाम के एनकाउंटर से उनकी आत्मा को कुछ शांति मिलेगी।

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

FAQ :

Q1. असद अहमद कौन था ? | Who was Asad Ahmed ?
Answer : माफिया अतीक अहमद के 5 बच्चों में असद तीसरा बेटा था जो 24 फरवरी को हुए उमेश पाल हत्याकांड का मुख्य आरोपी था और बाकी साथी आरोपियों समेत तब से ही फ़रार था जो UP STF से मुदभेड़ दोरान झासी में एनकांउटर में मारा गारा |

Q2. असद का एनकाउंटर कहा हुआ ? | Where is Asad Ahmed’s Encounter ?
Answer : 13 अप्रैल 2023 को दोपहर में UP STF द्वारा झासी में एनकांउटर हुआ और STF का दावा है कि इनके पास से विदेशी हथियार भी बरामद हुए हैं |

Q3. शूटर मोहम्मद गुलाम कौन था ? | Who was the shooter Mohammad Ghulam ?
Answer : मोहम्म्द गुलाम अतीक अहमद का करीबी रहा है और 24 फरवरी को उमेश पाल जब कोर्ट से अपने घर वापस लौट रहे थे तो उनके घर के सामने ही उन्हें घेरकर मार दिया गया था | गुलाम उस वक्त पहले से ही उमेश के घर के पास ही एक इलेक्ट्रिशियन की दुकान में मौजूद था | जिसकी CCTV फुटेज भी सामने आई थी जिसमे पहले वो दुकानदार से ग्राहक बनकर कुछ सामान निकलवाता है इसी बीच जैसे ही उमेश पाल की गाड़ी वहां पहुंचती है और उस पर पहला फायर होता है तभी गुलाम दुकान से बाहर तेजी से निकलता है और उमेश पर गोलियां बरसाने लगता है | उमेश पाल की हत्या के बाद से ही असद अहमद और गुलाम ये दोनों फरार थे |

Q4. अतीक अहमद के परिवार में और कौन-कौन हैं ? | Who else is there in Atiq Ahmed’s family ?
Answer : अतीक अहमद के पिता का नाम हाजी फिरोज अहमद है जो पेशे से तांगा चलते थे | अतीक अहमद ने शाइस्ता परवीन से शादी की, जिनसे अतीक के कुल पांच बेटे हैं | अतीक अहमद को कोई बेटी नहीं है, वहीं अतीक अहमद का एक भाई है जिसका नाम अशरफ अजीम है | अशरफ अजीम की पत्नी का नाम जैनब फातिमा है | इसके अलावा अतीक अहमद की एक बहन है, जिसका नाम आयशा नूरी है | अतीक अहमद के बहनोई का नाम इकलाख अहमद है |

Q5. असद के एनकाउंटर के बाद उमेश पाल की माँ और पत्नी ने क्या कहा ?
Answer : अतीक अहमद के बेटे असद और शूटर गुलाम मोहम्मद के एनकाउंटर के बाद जब पत्रकारों ने उमेश पाल की मां और पत्नी से इस बारे में बात की तब उन्होंने उत्तर प्रदेश के भावी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को धन्यवाद किया है। उमेश पाल की पत्नी और मां ने कहा कि CM योगी राज में देर है अंधेर नहीं है और उत्तरप्रदेश सरकार और पुलिस जो कर रही है वो बहुत अच्छा काम कर रही है। उमेश पाल की मां शांति पाल ने आखिर में कहा की मेरे बेटे को सरेआम गोली मारी थी, साथ में दो पुलिसकर्मियों को भी मारा है और असद और गुलाम के एनकाउंटर से उनकी आत्मा को कुछ शांति मिलेगी।

Asad Ahmed Encounter Conclusion :

उमेश पाल हत्याकांड के बाद से Asad Ahmed और बाकी आरोपी भी फरार चल रहे थे जिसके लिए उत्तर प्रदेश CM और पुलिस विभाग ने प्रदेश को अपराध मुक्त रखने के संकल्प के साथ काम कर रहे है जिसके परिणाम स्वरूप उत्तर प्रदेश से गुंडे माफिया और अपराधियों को खत्म कर रहे है | कोई भी ऐसा अपराधी जो अपराध करेगा वो प्रदेश में खुला नहीं घूमेगा | उत्तर प्रदेश कानून के माध्यम से सजा दिलाने में उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर है | उत्तर प्रदेश में कोई भी अपराधी अपराध करके बच नहीं पाएगा |

देश-विदेश पर लेख और न्यूज़ जानने के लिए यहाँ क्लिक करे |

Sharing Is Caring:

Leave a Reply

CAPTCHA ImageChange Image