अरविंद केजरीवाल सीबीआई जांच | Arvind Kejriwal CBI Investigation

दिल्‍ली के सीएम Arvind Kejriwal CBI Investigation में मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। CBI ने उन्‍हें 16 अप्रैल को तलब किया है। केजरीवाल से दिल्‍ली शराब घोटाले में पूछताछ की जाएगी। इस केस में पार्टी के कई नेता पहले ही सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं। आइए, यहां जानते हैं कि उनसे क्‍या सवाल पूछे जा सकते हैं।  दिल्‍ली शराब घोटाले  में जांच की आंच मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल  तक पहुंच गई है। आबकारी नीति मामले में पूछताछ के लिए CBI ने दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को 16 अप्रैल को तलब किया है। केंद्रीय जांच एजेंसी का यह समन केजरीवाल के पास ऐसे समय आया है| जब हाल में उनके निजी सचिव (पीए) बिभव कुमार से प्रवर्तन निर्देशालय (ED) के अधिकारियों ने पूछताछ की थी।

arvind kejriwal cbi investigation

Arvind Kejriwal Latest News CBI Investigation

केजरीवाल जब 16 अप्रैल को सीबीआई के सामने पहुंचेंगे तो उन्‍हें कुछ कठिन सवालों का जवाब देना पड़ सकता है। ये सभी सवाल रद्द की जा चुकी एक्‍साइज पॉलिसी  से जुड़े होंगे। यह पूरा मामला केजरीवाल सरकार के लिए परेशानी का सबक बन चुका है। मनीष सिसोदिया सहित AAP के कई मंत्री और नेता इस मामले में सलाखों के पीछे हैं। आइए, यहां समझने की कोशिश करते हैं| कि सीबीआई केजरीवाल से क्‍या-क्‍या पूछ सकती है। इस केस में ईडी और सीबीआई अपने-अपने स्‍तर से जांच कर रहे हैं। ईडी ने अपनी दूसरी चार्जशीट में दिल्‍ली के सीएम को भी नामजद किया है। चार्जशीट में इस बात का जिक्र है कि समीर महेंद्रू और अरविंद केजरीवाल में डील फाइनल होने से पहले वीडियो कॉल पर बात हुई थी। शराब व्‍यापारी समीर को केस में मुख्‍य आरोपी बनाया गया है।

जांच एजेंसी का दावा है कि DANICS अधिकारी सी अरविंद ने अपने बयान में कहा है कि उन्‍हें एक्‍साइज पॉलिसी पर जीओएम रिपोर्ट मार्च 2021 के मध्‍य में दी गई थी। उन्‍हें इसके लिए उनके बॉस (सिसोदिया) ने केजरीवाल के घर पर बुलाया था और वो अरविंद केजरीवाल के सचिव थे। इस कॉल में केजरीवाल ने समीर महेंद्रू से AAP के कम्‍यूनिकेशन इंचार्ज विजय नायर पर भरोसा करने को कहा था। विजय नायर भी समीर महेंद्रू के साथ आरोपी हैं। यहीं से सवाल खड़े होने शुरू होते हैं। सीबीआई के सवाल भी इसी कड़ी में होंगे। नई आबकारी नीति में हुए कथित घोटाले मामले में दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं। उन्हें सीबीआई ने 26 फरवरी को गिरफ्तार किया था। आबकारी नीति में कथित भ्रष्टाचार में पूछताछ के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सीबीआई को नोटिस मिलने के बाद दिल्ली की सियासत एक बार फिर शुक्रवार शाम गर्म हो गई।

आम आदमी पार्टी ने केजरीवाल को भ्रष्टाचार का काल बताते हुए नोटिस को भाजपा व केंद्र सरकार की साजिश करार दिया है। आबकारी नीति में कथित घोटाले में सीबीआई कल केजरीवाल से पूछताछ करेगी। पार्टी ने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोला है। वहीं, भाजपा ने आप के बयानों को हताशा भरा बताते हुए आबकारी नीति में बड़े भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। भाजपा का कहना है कि वह दिन दूर नहीं, जब आप सरकार के दो पूर्व मंत्रियों मनीष सिसोदिया व सत्येंद्र जैन के साथ केजरीवाल भी एक ही बैरक में होंगे। उधर, कांग्रेस का कहना है कि उनकी शिकायत के बाद ही मुख्यमंत्री को पूछताछ के लिए बताया गया है।

पुरे मामले से ध्यान भटकाने के लिए आम आदमीं पार्टी का इल्जाम “प्रधानमंत्री के उद्योगपति मित्रों को बचाने के लिये केंद्र सरकार की कोशिश”

आम आदमी पार्टी ने सीबीआई की ओर से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को समन भेजने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साजिश करार दिया है। आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि केजरीवाल ने विधानसभा में अदाणी की कंपनी में लाखों करोड़ रुपये काला धन मोदी का लगा होने का दावा किया था। उसी दिन से उनके खिलाफ मोदी ने साजिश रचनी शुरू कर दी और आज सीबीआई का समन भी आ गया, मगर इस समन से भ्रष्टाचार के खिलाफ केजरीवाल की लड़ाई रुकने वाली नहीं है। केजरीवाल ने विधानसभा से प्रधानमंत्री के काले कारनामों को उजागर करने की जो शुरुआत की है,  वो जारी रहेगी और देश के हर घर तक पहुंचेगी। मुख्यमंत्री को नोटिस मिलने के बाद संजय सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिस दिन विधानसभा में केजरीवाल ने अदाणी की कंपनी का मुद्दा उठाया था| उसी दिन उन्होंने उनसे कहा था कि अगला नंबर अब आपका होगा। ये लोग प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार को दबाने के लिए सारे जतन करेंगे,  क्योंकि केजरीवाल ने सिलसिलेवार तरीके से परत दर परत देश को समझाने का प्रयास किया था| कि अदाणी की कंपनी में लगा मोदी के भ्रष्टाचार का पैसा है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 16 अप्रैल को केजरीवाल को गिरफ्तार कर जेल में डालने की जो साजिश रची है,  इससे केजरीवाल की आवाज नहीं दबने वाली है। विधानसभा से केजरीवाल की निकली आवाज देश के एक-एक घर में पहुंचेगी कि प्रधानमंत्री ने लाखों करोड़ो रुपये का कालाधन अपने दोस्त की कंपनी में लगाया है और मिलकर भ्रष्टाचार किया है। संजय सिंह के मुताबिक, न केजरीवाल और न आम आदमी पार्टी का एक भी नेता व कार्यकर्ता झुकने और डरने वाला है। केजरीवाल पहले भी प्रधानमंत्री से लड़ते रहे हैं और आगे भी लड़ते रहेंगे।

भाजपा का अगला टारगेट केजरीवाल होने के बारे में मालूम थी आतिशी

आप नेता व दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री और उनके दोस्तों के भ्रष्टाचार को उजागर करने के बाद से भाजपा तिलमिलाई हुई थी। इस कारण भाजपा ने एक केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग करते हुए अरविंद केजरीवाल को समन भेजा है। भाजपा के अगले टारगेट के बारे में उन्हें उसी दिन से मालूम था| जिस दिन अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार को एक्सपोज किया था। मगर प्रधानमंत्री व उनके खास दोस्त के भ्रष्टाचार की अब तक जांच नहीं हुई है,  लेकिन इस भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाले केजरीवाल को सीबीआई का नोटिस आ गया है। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल को सीबीआई का नोटिस अपने विरोधियों को खत्म करने का भाजपा का फार्मूला है।

वह दिन दूर नहीं केजरीवाल,  सिसोदिया व जैन एक ही बैरक में होंगे सचदेवा

प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि केजरीवाल सरकार ने नई आबकारी नीति लाकर दिल्ली के राजस्व का नुकसान किया। इसके अलावा समाज को भी प्रताड़ित किया। केजरीवाल सरकार ने युवाओं को नशे की ओर धकेलने का काम किया, गरीबों को बर्बादी की ओर धकेला और आबकारी नीति के विरुद्ध आंदोलन करने वाली महिलाओं पर लाठियां बरसवाई। आज उन सभी प्रभावित परिवारों की आह रंग लाई है और केजरीवाल को जांच एजेंसी ने पूछताछ के लिए बुलाया है। लिहाजा शराब घोटाले की जांच अब अपने निर्णायक दौर में पहुंच गई है और वह दिन दूर नहीं जब एक-दूसरे को मिस करने वाले तीन यार केजरीवाल, मनीष व सत्येन्द्र जैन एक ही बैरक में मिल बैठेंगे।

“आप” पार्टी में हताशा की झलक दिखने लगी : कपूर

प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है, कि मुख्यमंत्री को सीबीआई का समन जारी होने के बाद हताशा है और संजय सिंह के संवाददाता सम्मेलन में उसकी झलक दिख रही थी। उनके हर शब्द में अपनी गिरफ्तारी का डर भी दिखाई दे रहा था। उनकी बात सुनकर ऐसा लगा कि शराब घोटाले और अन्य घोटालों के मामले में अरविंद केजरीवाल तक कानून का हाथ पहुंचने का आप नेताओं को अहसास हो गया है।

शराब घोटाले में सीएम अरविंद केजरीवाल से पूछताछ करेगी CBI, नई लिकर पॉलिसी को लेकर पूछे जा सकते हैं सवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछताछ के लिए केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने एक नोटिस जारी किया है। जारी किए गए नोटिस के मुताबिक सीबीआई ने केजरीवाल को 16 अप्रैल यानी रविवार के दिन पूछताछ के लिए बुलाया है। सीबीआई केजरीवाल से नई लिकर पॉलिसी के संबंध में पूछताछ करना चाहती है। बता दें कि इसी मामले में दिल्ली के पूर्व उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जेल की सजा काट रहे हैं तो ऐसे में लाजिमी है कि आप बीजेपी की प्रतिक्रिया जानने के लिए बेताब हो रहे होंगे, तो आइए जान लेते हैं कि आखिर बीजेपी ने पूरे मामले पर क्या कुछ कहा है।

उपभोगता जाग्रति और सरक्षण के लिए हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

बीजेपी की प्रतिक्रिया

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने सीएम केजरीवाल को जारी किए समन पर कहा कि अरविंद केजरीवाल को CBI ने पूछताछ के लिए बुलाया शराब घोटाले में अरविंद केजरीवाल से पूछताछ होगी 16 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल को CBI ने बुलाया शराब घोटालें के आरोपियों ने क़बूल किया कि केजरीवाल से फ़ेसटाइम पर बात करने के बाद दिए थे पैसे।शराब घोटाला मामले में सीबीआई ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को नोटिस जारी किया है। उनसे 16 अप्रैल को सुबह 11 बजे पूछताछ की जाएगी। वहीं, केजरीवाल को मिले नोटिस पर आप नेता व सांसद संजय सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि अत्याचार का अंत जरूर होगा। इसके अलावा उन्होंने प्रेसवार्ता करके भी केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने परोक्ष रूप से अडानी का नाम लिया बगैर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है। वहीं, संजय सिंह ने कहा कि केजरीवाल किसी भी मामले में जांच का सामना करने से नहीं डरते हैं। बता दें कि केजरीवाल को यह नोटिस ऐसे वक्त में जारी किया गया है, जब शराब घोटाला मामले में मनीष सिसोदिया से पूछताछ जारी है। ऐसे में अब इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं ना कहीं उन्होंने पूछताछ के दौरान सीएम केजरीवाल का जिक्र जरूर किया होगा, इसलिए अब जांच की आंच केजरीवाल तक पहुंची है।

उधर, संजय सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में स्पष्ट कर दिया है कि केजरीवाल हर प्रकार के जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं। बता दें कि इससे पहले उक्त मामले में दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को गत 26 फरवरी को सीबीआई ने आठ घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था। हालांकि, उनकी गिरफ्तारी से पहले सीएम केजरीवाल ने एक निजी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में सिसोदिया के गिरफ्तारी की संभावना व्यक्त कर दी थी और जब अगले दिन उनकी गिरफ्तारी हुई, तो सभी हक्के-बक्के रह गए। हालांकि, सिसोदिया जमानत याचिका भी कोर्ट में दाखिल की थी, लेकिन उसे खारिज कर दिया गया। वहीं, उक्त मामले में बीजेपी शुरू से ही सीएम केजरीवाल की गिरफ्तारी की मांग कर रही है और अब जब उन्हें सीबीआई का नोटिस जारी किया गया है, तो ऐसे में लाजिमी है कि आप बीजेपी की प्रतिक्रिया जानने के लिए बेताब हो रहे होंगे, तो आइए जान लेते हैं कि आखिर बीजेपी ने पूरे मामले पर क्या कुछ कहा है।

वहीं, बीजेपी नेता हरिश खुराना ने केजरीवाल को मिले नोटिस पर कहा कि कानून अपना काम कर रहा है। अगर आपने कुछ नहीं किया है, तो आपको डरने की जरूरत नहीं है। लेकिन, अगर आपने किया है, तो आपको जांच का सामना करने के लिए तैयार होना चाहिए। अब अपने आपको कट्टर ईमानदार कहने वाले जरा बता दें कि आखिर  सिसोदिया की रिहाई अभी तक क्यों नहीं हुई है? बहरहाल, सीएम केजरीवाल को मिले नोटिस के बाद दिल्ली की राजनीति का पारा गरमा गया है। उधर, बीजेपी भी आप पर हमलावर हो चुकी है। अब ऐसे में यह पूरा माजरा आगामी दिनों में क्या रुख अख्तियार करता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी

बीजेपी ने AAP को घेरा

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल शराब नीति मामले के मास्टरमाइंड हैं। वहीं बीजेपी नेता परवेश वर्मा का कहना है कि बिना सीएम केजरीवाल के आम आदमी पार्टी में एक पत्ता भी नहीं हिल सकता है। एजेंसी को भी हमने ये बात बताई थी। केजरीवाल से पूछताछ होना दिल्ली की जनता के लिए बड़ी जीत है। उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता के साथ केजरीवाल और उनकी टीम विश्वासघात कर रही थी। उन्होंने दिल्ली की जनता के विश्वास पर डाका डाला है।

Arvind Kejriwal से संबंधित और भी ज्यादा खबर जानने के लिए यहाँ Click कीजिये |

Sharing Is Caring:

Leave a Reply

CAPTCHA ImageChange Image